Monday, 27 January 2020, 12:29 AM

धर्म कर्म

इंसान के मरने की बाद अस्थियों को नदी में ही प्रवाहित क्यों करते है??

Updated on 2 December, 2019, 6:30
जो इंसान जन्मा है उसे मरना ही पड़ता है। प्राचीन समय से ही ऋषि-मुनियों और विद्वानों ने कई परंपराएं बनाई गई हैं जिनका पालन करना काफी हद तक अनिवार्य बताया गया है। हमारे जीवन के साथ-साथ मृत्यु के बाद की भी हमसे जुड़ी कुछ परंपराएं होती हैं जिनका पालन हमारे... आगे पढ़े

एकादशी के दिन भूल से ये न करें, यह जरूर करें

Updated on 2 December, 2019, 6:15
एकादशी का हिंदू धर्म में विशेष महत्व है। धर्म शास्त्रों में एकादशी के महात्म्य का वर्णन किया गया है। एकादशी पर सात्विक आचरण करें और ईश्वरीय भक्ति में दिन व्यतीत करने से पुण्य की प्राप्ति होती है। इस दिन हमें कुछ चीजों से दूर रहना चाहिए, हम आपको इस लेख में... आगे पढ़े

तेज और स्वास्थ्य देने वाले हैं भगवान सूर्यदेव

Updated on 1 December, 2019, 6:45
सूर्य एक शक्ति है। भारत में तो सदियों से सूर्य की पूजा होती आ रही है। सूर्य तेज और स्वास्थ्य के दाता माने जाते हैं। यही कारण है कि विभिन्न जाति, धर्म एवं सम्प्रदाय के लोग दैवी शक्ति के रूप में सूर्य की उपासना करते हैं। सूर्य प्रत्यक्ष देवता है,... आगे पढ़े

विवाह पंचमी 2019: विवाह पंचमी 1 दिसंबर को, ग्रह नक्षत्रों की स्थिति से इस दिन बन रहे हैं शुभ योग

Updated on 30 November, 2019, 6:45
हिंदू धर्म में विवाह पंचमी को बहुत ही खास दिन माना जाता हैं। इस दिन प्रभु श्रीराम और देवी माता सीता के विवाह का महापर्व मनाया जाता हैं। इस साल यह पर्व 1 दिसंबर दिन रविवार को मनाया जाएगा। इस दिन ग्रह नक्षत्रों की विशेष स्थिति से शुभ योग बन... आगे पढ़े

पुराणों में बताई गई ये 5 बातें गुप्त रखने में ही भलाई.

Updated on 30 November, 2019, 6:30
हर व्यक्ति के जीवन के कुछ रहस्य होते हैं जिन्हें वह छिपाकर रखता हैं। हांलाकि लोग अपने करीबियों को उन रहस्यों के बारे में बता देते हैं। लेकिन पुराणों में बताया गया हैं कि कुछ रहस्य ऐसे होते हैं जिन्हें गुप्त रखने में ही आपकी भलाई हैं और इन्हें अपने... आगे पढ़े

सूर्य ग्रहण 2019: जानें, किस राशि पर पड़ेगा क्या असर ?

Updated on 30 November, 2019, 6:15
सूर्य ग्रहण एक खगोलीय घटना है। अगर आसान शब्दों में कहें तो इस घटना के तहत जब चंद्रमा सूर्य और पृथ्वी के मध्य में आ जाता है जिससे सूर्य की किरणें पृथ्वी तक नहीं पहुंच पाती तो इस घटना को ही सूर्य ग्रहण कहा जाता है। ग्रहण का सूतक कई... आगे पढ़े

हर व्यक्ति के होते हैं एक इष्ट देव या देवी  

Updated on 29 November, 2019, 6:30
सभी देवी–देवताओं की पूजा–उपासना करने के बाद भी अक्सर इंसान का मन भटकता ही रहता है। हर इंसान का मन किसी एक देवी या देवता की ओर सबसे ज्यादा आकर्षित होता है और वही देवी या देवता आपके इष्ट देव हो सकते हैं। अगर आपकी कोई कुल देवी या देवता... आगे पढ़े

अपनी हथेली से जानिये भविष्य 

Updated on 29 November, 2019, 6:15
भविष्य की बातें जानने की उत्कंठा सभी के मन में होती है। इसके लिए लोग ज्योतिषियों के पास जाते हैं। अगर आप चाहें तो  हथेलियों से और उसके रंग से भाग्य के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियाँ मिल सकती हैं।  हथेलियों के रंग से स्वभाव , स्वास्थ्य और आर्थिक स्थिति के बारे... आगे पढ़े

इसलिए चढ़ाए जाते हैं नारियल और नींबू 

Updated on 28 November, 2019, 6:45
आदिकाल से ही दुनिया के लगभग सभी धर्मों में बलि देने की प्रथा मौजूद रही है हालांकि ईश्वर भाव का भूखा होता हैं। आजतक किसी ने भगवान को कभी किसी वस्तु का उपभोग करते हुए नहीं देखा है। भारत में भी कई जगहों पर देवी देवताओं को जानवरों की बलि... आगे पढ़े

शनिदेव के हैं नौ वाहन 

Updated on 28 November, 2019, 6:15
सूर्यपुत्र शनिदेव न्याय के देवता हैं हालांकि लोग उनके कोप से भयभीत रहते हैं पर वह हमेशा ही कार्यों के अनुरुप परिणाम देते हैं। उनके कई वाहन हैं।  शनि के वाहनों की बात करते हुए सामान्‍य रूप से कौवे के बारे में ध्‍यान आता है, लेकिन उनके कौवे सहित कुल... आगे पढ़े

श्रीकृष्ण का यह मंदिर मात्र 2 मिनट के लिए बंद होता है, वजह जानकर हैरान रह जाएंगे

Updated on 27 November, 2019, 6:45
केरल के कोट्टायम जिले में तिरुवेरपु या थिरुवरप्पु में भगवान श्रीकृष्ण का एक प्रसिद्ध और चमत्कारिक मंदिर है जिसे तिरुवरप्पु श्रीकृष्ण मंदिर कहते हैं। इस मंदिर के संबंध में कई तरह की किंवदंतियां जुड़ी हुई हैं। एक यह है कि जब भगवान श्रीकृष्ण ने कंस को मारा था तो उनको... आगे पढ़े

भगवान बुद्ध ने क्यों नहीं दिए थे इन 14 प्रश्नों के उत्तर?

Updated on 27 November, 2019, 6:30
कहते हैं कि लव-कुश की पीढ़ी में शाक्य, शाक्य से शुद्धोधन और शुद्धोधन से सिद्धार्थ का जन्म हुआ। यह सिद्धार्थ ही आगे चलकर गौतम बुद्ध ने नाम से प्रसिद्ध हुए। गौतम बुद्ध के दर्शन में अनीश्वरवाद, अनात्मवाद और क्षणिकवाद को महत्व दिया जाता है। उनका मानना था कि संबुद्ध होना... आगे पढ़े

यदि आपका घर तिराहे, चौराहे या इन 5 जगह हो तो जल्दी से छोड़ दें

Updated on 27 November, 2019, 6:15
हिन्दू पुराणों और वास्तु शास्त्र के अनुसार आप जहां रहते हैं उस स्थान से ही आपका भविष्य तय होता है। यदि आप गलत जगह रह रहे हैं तो अच्छे भविष्य की आशा मत कीजिये। अत: हर व्यक्ति को यह जानना जरूरी है कि उसे कहां रहना चाहिए और कहां नहीं... आगे पढ़े

रहस्यमयी क्यों होती है अमावस्या, क्या अमावस्या पर सक्रिय होती हैं बुरी ताकतें?

Updated on 25 November, 2019, 6:45
चौदस, अमावस्या और प्रतिपदा उक्त 3 दिन पवित्र बने रहने में ही भलाई है अमावस्या माह में एक बार ही आती है। शास्त्रों में अमावस्या तिथि का स्वामी पितृदेव को माना जाता है। अमावस्या सूर्य और चन्द्र के मिलन का काल है। इस दिन दोनों ही एक ही राशि में रहते... आगे पढ़े

26 नवंबर को है बड़ी अमावस्या, पितरों के लिए करें ये 5 काम, मिलेगा शुभ वरदान

Updated on 25 November, 2019, 6:30
अमावस्या पर पितृदोष निवारण के 5 अचूक उपाय खास आपके लिए... पितृ दोष दूर करने के लिए विशेष है अमावस्या के दिन अक्सर कहा जाता कि अमावस्या पर पितृ दोष निवारण के लिए पूजा करने का विशेष महत्व है। लेकिन अमावस्या पर क्या किया जाए और कैसे किया जाए यह स्पष्ट रूप... आगे पढ़े

25 नवंबर को 4 ग्रह- बृहस्पति, शनि, शुक्र और केतु होंगे 1 ही घर में, खतरे के संकेत

Updated on 25 November, 2019, 6:15
दिनांक 25-11-2019 को धनु राशि में चार ग्रह संयोजन होने वाले हैं। आमतौर पर दो या दो से अधिक ग्रहों का एक ही राशि में संयोजन अच्छा नहीं माना जाता है भारत की कुंडली में बृहस्पति, शनि, शुक्र और केतु का संयोजन धनु राशि में होने वाला है यह एक दुर्लभ... आगे पढ़े

महाभारत के युद्ध में ऐन वक्त पर युयुत्सु ने क्यों बदल लिया था पाला?

Updated on 24 November, 2019, 6:30
गांधारी जब गर्भवती थी तब धृतराष्ट्र की सेवा आदि कार्य करने के लिए एक वणिक वर्ग की दासी रखी गई थी। धृतराष्ट्र ने उस दासी से ही सहवास कर लिया। सहवास के कारण दासी भी गर्भवती हो गई। उस दासी से एक पुत्र उत्पन्न हुआ जिसका नाम युयुत्सु रखा गया।... आगे पढ़े

26 नवंबर को भौमवती अमावस्या: इन 12 उपायों से होंगे पितृ देव प्रसन्न, देंगे शुभ आशीर्वाद

Updated on 24 November, 2019, 6:15
पौराणिक धार्मिक ग्रंथों के अनुसार मंगलवार के दिन आने वाली अमावस्या को भौमवती अमावस्या के नाम से जाना जाता है। इस वर्ष यह अमावस्या 26 नवंबर 2019, मंगलवार को आ रही है। वर्षभर में प्रत्येक मास में एक अमावस्या होती है। शास्त्रों के अनुसार यह तिथि अत्यंत पवित्र तिथि मानी... आगे पढ़े

अमावस्या पर रखें ये 5 सावधानियां, वर्ना पछताएंगे

Updated on 23 November, 2019, 6:30
अमावस्या माह में एक बार ही आती है। मतलब यह कि वर्ष में 12 अमावस्याएं होती हैं। प्रमुख अमावस्याएं : सोमवती अमावस्या, भौमवती अमावस्या, मौनी अमावस्या, शनि अमावस्या, हरियाली अमावस्या, दिवाली अमावस्या, सर्वपितृ अमावस्या आदि मुख्‍य अमावस्या होती है। अमा‍वस्या के दिन भूत-प्रेत, पितृ, पिशाच, निशाचर जीव-जंतु और दैत्य ज्यादा सक्रिय... आगे पढ़े

20 Quotes Satya sai baba: सत्य साईं बाबा के 20 अनमोल वचन

Updated on 23 November, 2019, 6:15
* सत्य साईं बाबा के 20 अमूल्य वचन सत्य सांई बाबा सभी धर्म के लोगों के लिए प्रेरणास्रोत थे। उनका मानना था कि हर व्यक्ति का कर्तव्य यह सुनिश्चित कराना है कि सभी लोगों को आजीविका के लिए मूल रूप से जरूरी चीजों तक पहुंच मिले। उनके विचार बहुत प्रभावशाली हैं। आपके लिए... आगे पढ़े

कष्टों को दूर करता है स्वास्तिक 

Updated on 22 November, 2019, 6:45
स्वास्तिक का अर्थ है शुभ और अच्छा होना। स्वास्तिक कल्याणकारी और शुभ होता है। घर के सारे कष्टों को दूर करता है स्वास्तिक। मां लक्ष्मी और भगवान गणेश जी का प्रतीक चिन्ह होता है स्वास्तिक। इसलिए किसी भी पूजा को शुरू करने से पहले स्वास्तिक बनाया जाता है। घर पर... आगे पढ़े

पन्ना रत्न और उसने होने वाले लाभ  

Updated on 21 November, 2019, 6:45
हमारे जीवन में रत्न अहम भूमिका निभाते हैं। जीवन में आने वाली कई अड़चने इनसे दूर होती हैं पर इन्हें पहनते समय योग्य जानकारों से सलाह लेनी चाहिये क्योंकि कई बार इसका विपरीत प्रभाव भी पड़ता है। पन्ना बुध ग्रह का रत्न होता है। इसका रंग हल्का से गहरा हरा... आगे पढ़े

ॐ का उच्चारण करते समय रखें इन बातों का ध्यान 

Updated on 21 November, 2019, 6:30
सनातन धर्म में पूजा पाठ शुरु करते समय ॐ का जाप किया जाता है। 'ॐ' तीन अक्षरों से मिलकर बना है - अ , ऊ और म यह ईश्वर के तीन स्वरूपों ब्रह्मा, विष्णु और महेश का संयुक्त स्वरूप माना जाता है। इसलिए इस शब्द में सृजन, पालन और संहार,... आगे पढ़े

शिवतांडव स्तोत्र से मिलती है सिद्धि  

Updated on 21 November, 2019, 6:15
शिवतांडव स्तोत्र का प्रतिदिन पाठ करने से व्‍यक्ति को जिस किसी भी सिद्धि की महत्वकांक्षा होती है, भगवान शिव की कृपा से वह आसानी से पूर्ण हो जाती है। इस बारे में एक कथा से जाना जा सकता है। कुबेर व रावण दोनों ऋषि विश्रवा की संतान थे और दोनों... आगे पढ़े

क्या रात को दही स्वास्थ्य और किस्मत दोनों के लिए सही नहीं है, पढ़ें और भी बातें

Updated on 20 November, 2019, 6:45
अगर आप भी करते हैं अपने जीवन में ये 6 काम, तो निश्चित रूप से होंगे बर्बाद, कभी नहीं आएगी समृद्धि प्राचीन काल से ही कुछ शास्त्रगत नियम चले आ रहे हैं। हमारे बड़े-बुजुर्ग हमें कुछ काम करने से निरंतर टोकते हैं लेकिन हम उन्हें अनसुना कर देते हैं जबकि अगर... आगे पढ़े

इन लोगों का नमक भूलकर भी न खाएं, वरना बाद में पछताएंगे...

Updated on 20 November, 2019, 6:30
हमारे शरीर के लिए नमक बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। इसके बावजूद भी सभी घटिया किस्म का नमक खाते हैं। ज्यादा या कम नमक खाना नुकसानदायक है। भारत में सेंधा और काला नमक खाते थे लेकिन आजकल समुद्री नमक प्रचलन में है। भारत में 1930 से पहले कोई भी समुद्री... आगे पढ़े

क्या आपमें भी है 8 गंदी आदतें, तुरंत बदल डालिए वरना...कर सकते हैं शत्रु परेशान

Updated on 20 November, 2019, 6:15
क्या आप भी जहां-तहां थूकने की आदत के शिकार हैं, क्या आप भी चप्पल, जूते, मोज़े इधर-उधर पटक देते हैं, क्या आप भी गीले पैरों से बिस्तर पर चढ़ जाते हैं... तुरंत बदल डालिए 8 आदतें क्योंकि ऐसी आदतें ही आपके जीवन में परेशानी कारण हैं.. धन का आगमन तो... आगे पढ़े

कहीं आपको भी तो नहीं आ रहे धन के सपने, सपनों से जानिए कब मिलेगा धन

Updated on 18 November, 2019, 6:30
सपने सभी देखते हैं। सपनों का मन से गहरा रिश्ता होता है। मन जितना निर्मल और पारदर्शी होगा, सपने भी उतने ही स्पष्ट, सटीक और सुलझे हुए दिखाई देंगे। हमारी इंद्रियां स्वप्नावस्था में जागृतावस्था की तुलना में अधिक संवेदनशील हो जाती है। अपनी अंतर्बोध क्षमता से हम सपनों को समझ... आगे पढ़े

12 दिसंबर तक रहेगा अगहन मास, इसमें आ रही है कालभैरव अष्टमी और दत्त पूर्णिमा

Updated on 18 November, 2019, 6:15
बुधवार, 13 नवंबर से नया हिन्दी माह अगहन शुरू हो गया है। गुरुवार, 12 दिसंबर तक हिन्दी महीना अगहन मास रहेगा। इसे मार्गशीर्ष मास भी कहते हैं। इस महीने को भगवान श्रीकृष्ण का स्वरूप कहा गया है। इन दिनों में श्रीकृष्ण की पूजा का विशेष महत्व है। जानिए इस माह... आगे पढ़े

हिन्दू देवता भगवान पवन देव

Updated on 17 November, 2019, 6:45
पवन देव वायु के एक हिन्दू देवता हैं और वे हनुमान एवं भीम के पिता हैं। वह स्वर्ग के देवता भगवान इंद्र द्वारा नियंत्रित किए जाते हैं। वह भगवान विष्णु के सच्चे भक्त हैं। त्रेतायुग में वह भगवान हनुमान के पिता थे, और उन्होंने भगवान श्रीराम की बहुत बड़ी सेवा की... आगे पढ़े

राशिफल